National

कृष्ण सुदामा से मिलने आए हैं… राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद बोले 106 साल के भाजपा कार्यकर्ता भुलाई भाई


भाजपा और जनसंघ से 70 साल से ज्यादा वक्त से जुड़े रहे भुलाई भाई गुरुवार को जब दिल्ली में डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह से मिले तो भावनाएं उफान पर थीं। भुलाई भाई और राजनाथ सिंह दोनों ही पुराने दौर को याद करते हुए भावुक हो गए। यही नहीं राजनाथ सिंह से मुलाकात कर बेहद खुश नजर आए भुलाई भाई ने कहा कि यह मुलाकात वैसी ही है, जैसी कभी कृष्ण और सुदामा की रही थी। यूपी भवन में भुलाई भाई ने रक्षा मंत्री से मिलने के बाद कहा, ‘जवान हो गया मिल के। कृष्ण सुदामा को मिलने आए हैं।’ राजनाथ सिंह ने भुलाई भाई से मुलाकात के दौरान पुराने दिनों को याद किया और उनके स्वास्थ्य का हाल जाना। 

भुलाई भाई ने 1952 में दशहरे के दिन जनसंघ को जॉइन किया था। तब से ही वह भगवा परिवार का हिस्सा बने हुए हैं। राजनाथ सिंह से पुराना नाता रखने वाले भुलाई भाई जनसंघ के संस्थापक रहे श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय के साथ भी काम कर चुके हैं। दलित समुदाय से आने वाले भुलाई भाई इस साल 1 नवंबर को 107 साल के हो जाएंगे। दरअसल राजनाथ सिंह ने भुलाई भाई से मुलाकात की इच्छा जताई थी। यह जानने के बाद भुलाई भाई उनसे मिलने पहुंचे थे। राजनाथ सिंह ने लंबे समय तक उनके साथ काम किया था। यही नहीं भुलाई भाई जनसंघ के टिकट पर 1974 और 1977 में विधायक भी बन चुके हैं। 

गले लगाते ही भावुक हुए भुलाई भाई, कहा- सुदामा से मिले हैं कृष्ण

राजनाथ सिंह के गले लगाते ही भुलाई भाई की आंखों से आंसू निकल पड़े। वह अपने पुराने साथी से मिलकर बेहद भावुक और खुश नजर आ रहे थे। राजनाथ सिंह ने उनका स्वागत करते हुए उन्हें धोती कुर्ता और शॉल भेंट किया। इस पर भुलाई भाई ने कहा कि मैं अब जवान महसूस कर रहा हूं। यही नहीं उन्होंने कहा कि अगले साल होने वाले यूपी के विधानसभा चुनावों में भाजपा पहले स्थान पर रहेगी। उन्होंने कहा कि हमने पार्टी को बदलते हुए देखा है और यह अच्छाई के लिए है। हमें उम्मीद है कि एक बार फिर से यूपी में भाजपा की सरकार बनेगी। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी की थी लॉकडाउन के दौरान मुलाकात

बता दें कि भुलाई भाई को नारायण के नाम से भी जाना जाता है। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कोरोना के दूसरे लॉकडाउन के दौरान उनसे मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद उन्होंने देश के सभी लोगों से अपील करते हुए कहा था कि वे बुजुर्गों का ख्याल रखें। राजनाथ सिंह ने उनसे मुलाकात के बाद कहा, ‘मैं यहां भुलाई भाई से मिलने आया था। वह बीजेपी के सबसे बुजुर्ग कार्यकर्ताओं में से एक हैं। उनकी उम्र 107 साल की है। 1977 में जब मैं विधायक बना था तो वह भी विधायक थे। उनके साथ यूपी भवन में बहुत अच्छी मुलाकात रही।’

संबंधित खबरें

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *